दिल्ली पुलिस की इकलौती महिला एसएचओ, जो कोरोना को हराने के लिए उठा रही हैं महत्वपूर्ण कदम

0
260

नारद डेस्‍क। राजधानी दिल्ली में 15 ज‍िले है और यहां 197 पुलिस थाने हैं, जहां लॉकडाउन के बाद से लगातार पुलिस दिन-रात मेहनत कर रही है। वहीं उत्तर-पश्चिम जिला का अशोक विहार थाना इन सबमें बेहद खास है। इसके खास होने की वजह यहां है कि यहां महिला एसएचओ आरती शर्मा हैं। अभी के समय में यह दिल्ली का एकमात्र ऐसा थाना है जिसे महिला एसएचओ संभाल रही हैं। वह कोरोना की इस जंग में दिन-रात कड़ी मेहनत कर रही हैं ताकि लोगों को किसी प्रकार की परेशानी न हो।

जानकारी के अनुसार इंस्पेक्टर आरती शर्मा करीब ढाई साल से अशोक विहार थाने में एसएचओ हैं। वह लॉकडाउन के इस समय में एक तरफ जहां पुलिसिंग कर रही हैं तो वहीं दूसरी तरफ लोगों की मदद का काम कर रही हैं। उन्होंने बताया कि इलाके में चोरी और झपटमारी की वारदातें रोकने के लिए पुलिस को दिन रात मेहनत करनी होती है। इसके साथ ही लॉकडाउन और सोशल डिस्टेंस का पालन करवाना बेहद जरूरी है। मजदूरों तक खाना पहुंचाने का काम भी उनके द्वारा लगातार किया जा रहा है।

रोजाना 1000 लोगों के खाने का होता है इंतजाम

एसएचओ आरती शर्मा ने बताया कि उनके क्षेत्र में जेलर वाला बाग और वजीरपुर औद्योगिक क्षेत्र में काफी मजदूर रहते हैं। इस क्लस्टर वाले क्षेत्र में लोगों के पास खाने की व्यवस्था नहीं है। यहां पर सरकार के साथ ही दिल्ली पुलिस भी लोगों को रोजाना खाना बांटती है। उन्होंने बताया कि वह मार्केट एसोसिएशन के साथ मिलकर रोजाना 1000 लोगों के लिए खाना बनाती हैं, जिसे दिन-रात वितरित किया जाता है। खाने को वितरित करते समय सोशल डिस्टेंसिंग का ख्याल रखने के लिए पुलिस मित्र उनकी मदद करते हैं।

परिवार का मिलता है सहयोग

एसएचओ आरती शर्मा ने बताया कि उनके लिए इस समय कड़ी मेहनत के साथ काम करना संभव नहीं होता अगर परिवार का सहयोग नहीं मिलता। उन्होंने बताया कि उनके घर में पति, बेटे के अलावा बुजुर्ग मां हैं। अभी के समय में घर जाना बेहद ही कम हो पाता है। वह जब घर जाती हैं तो उन्हें पति के हाथ का बना खाना मिलता है। वह परिवार के सदस्यों से वीडियो कॉल पर बात करती हैं। पति की तरफ से शुरू से ही काफी सपोर्ट मिला है जिसके चलते वह लोगों की सेवा दिन-रात कर पा रही हैं। इस काम के चलते ही इलाके के लोग आज फोन कर अपने केस के बारे में नहीं बल्कि उनका हालचाल जानने के लिए फोन करते हैं।

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें