दिल्ली पुलिस ने देर रात फिर किया एनकाउंटर

0
122

नारद डेस्क। दिल्ली पुलिस इन दिनों लगातार एनकाउंटर कर रही है। पुलिस ने इस बार भी देर रात एनकाउंटर करते हुए एक बदमाश को पकड़ा है। शाहदरा जिला डीसीपी अमित शर्मा ने बताया कि कल देर रात सीमापुरी थाने में तैनात सिपाही प्रिंस को एक गुप्त सूचना के जरिए बदमाश के बारे में पता चला था। इस सूचना के आधार पर एसएचओ हरीश ने तुरंत एसआई विनीत, हवलदार सुनील, सिपाही प्रिंस व कुलदीप को मिलाकर एक टीम बनाई और ओल्ड सीमापुरी स्थित शमशान घाट के पास सभी पुलिसवाले पिकेट लगाकर चैकिंग करने लगे। पुलिस को यह जानकारी मिली थी कि यह बदमाश देर रात 12 बजे के बाद किसी भी समय सीमापुरी होते हुए आनन्द विहार की तरफ जा सकता है।

Sho Harish Kumar

वहां यह किसी वारदात को अंजाम देने जाने वाला था। इसलिए 12 बजे से पहले ही पुलिस टीम पिकेट पर खड़ी हो गई और गाड़ियों की चैकिंग शुरू कर दी। देर रात करीब साढ़े 12 बजे पुलिस ने एक अपाचे बाइक सवार को दूर से आते देखा और जैसे ही पुलिस ने उसे रुकने का इशारा किया, तो इस बदमाश ने गोलियां चलानी शुरू कर दी। पुलिस के मुताबिक इसने पुलिस के ऊपर तीन गोलियां चलाई थी, जिसमें से दो बार पुलिसवाले पीछे हट गए और वो दो गोलियां बेरिगेट पर लग गई। इस तरह पुलिसवाले बड़ी मुश्किल से बच पाए। इसके बाद पुलिस ने भी जवाबी फायर करते हुए पहली गोली हवा में चलाई। इसके बाद दो गोलियां इसके पैर की तरफ चलाई, जिसमें से एक गोली इसके पैर में लग गई और यह घायल होकर नीचे गिर गया।

इस तरह पुलिस ने इसके हाथ से पिस्टल छीनकर इसे पकड़ लिया। पुलिस ने बताया है कि इसकी पिस्टल में तीन ही राउंड थे, जिन्हें यह चला चुका था। इसके अलावा तशाली लेने पर इसकी जेब से चार जिंदा कारतूस, एक टूटी हुई सोने की चेन व वारदात में इस्तेमाल अपाचे बाइक बरामद हुई है। इसके बाद पुलिस इसे अस्पताल लेकर गई, जहां इसकी हालत अब ठीक बताई गई है। पूछताछ में इस बदमाश ने अपना नाम 32 वर्षीय अनीश उर्फ बाबू बताया है। बाबू सीमापुरी स्थित कलंदर कॉलोनी का रहने वाला है, लेकिन पिछले काफी समय से न्यू सीलमपुर इलाके में छिपकर रह रहा था और यहीं से वारदातों को अंजाम दे रहा था। पुलिस ने कईं वारदातों के बाद सीसीटीवी फुटेज में इसके चेहरे को देखा है।

पलक झपकते ही तोड़ता था चेन
जांच के दौरान पुलिस को पता चला है कि बाबू के ऊपर चेन स्नैचिंग, रोबरी व आर्म्स एक्ट के करीब 24 मुकदमें पहले से ही अलग-अलग थानों में दर्ज हैं। यह पूरे यमुनापार में अकेला ही वारदातों को अंजाम देता था और जिस अपाचे बाइक से यह चलता था, उसके नम्बर इसने मिटा रखे थे। यह चेन तोड़ते ही छू मंतर हो जाता है। बताया गया है कि इसने वारदातों को अंजाम देने के लिए कई बार गोली भी चलाई है। ये इन वारदातों की ही वजह से पिछले साल पकड़ा भी गया था, लेकिन 2019 में ही जुलाई या अगस्त महीने में यह बाहर आ गया और तब से ही यह न्यू सीलमपुर इलाके में किसी महिला के साथ रहने लगा। जबकि इसका परिवार सीमापुरी इलाके की कलंदर कॉलोनी में रहता है। इसके परिवार में तीन भाई व एक मां है। पुलिस इसके परिवार का भी रिकॉर्ड खंगाल रही है।

गिरफ्तारी से पहले भी की थी वारदात
पुलिस को इसके पास से एक टूटी हुई चेन बरामद हुई है, जिससे साफ है कि यह पकड़े जाने से ठीक पहले भी रास्ते में कहीं वारदात को अंजाम देकर आया था और अन्य वारदातों को अंजाम देने आनंद विहार बस अड्डे जाने वाला था, लेकिन इससे पहले ही पुलिस ने इसे पकड़ लिया। हालांकि इसने पूछताछ में उस चेन के बारे में कुछ भी नहीं बताया। हां बाबू ने यह जरूर बताया है कि वह स्नैचिंग किया हुआ सारा माल यूपी में जाकर खपाता था। पुलिस अब पीसी रिमांड पर लेकर इससे आगे की पूछताछ करेगी।

पुलिसवाले बचे हैं बाल बाल
बताया गया है कि पुलिस को यह नहीं पता था कि बाबू इतना बड़ा क्रिमनल है कि वो पुलिस पर गोली भी चला सकता है। इसी वजह से पुलिसवाले बीपी जैकेट भी साथ लेकर नहीं गए थे, लेकिन पुलिस टीम का फिर भी हौसला नहीं टूटा और सभी ने प्रोफेशनल अफसरों की तरह बाबू को काबू कर लिया। हालांकि अचानक हुई इस फायरिंग में इन पुलिसवालों को गोली लग सकती थी, लेकिन वे पीछे हट गए और निडरता के साथ बदमाश का सामना करते हुए जवाबी कर्यवाही में उसे पकड़ लिया। बाबू से बरामद हथियार देसी पिस्टल बताई गई है, जो नए तरह व अच्छे किस्म की है। इसमें मैगज़ीन भी होती है, जिसमें 10, 11 कारतूस डलते हैं। आगे की जांच अभी जारी है।

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें