कईं केसों में वांटेड बदमाश को पुलिस ने गोली मारकर पकड़ा

0
116

अनुभव यादव। शाहदरा जिला के डीसीपी अमित शर्मा ने बताया कि स्पेशल स्टॉफ को सूचना के जरिए पता चला था कि मकोका में फरार एक बदमाश गांधी नगर होते हुए लोनी, गाजियाबाद जाएगा। इस सूचना के बाद स्पेशल स्टॉफ के इंस्पेक्टर जीत सिंह की लीडरशीप में एक टीम बनाई गई, जिसमेें एएसआई सुखबीर, हवलदार प्रवीण, अमित, राजू, सिपाही रोहित व आदेश को शमिल किया।

सभी पुलिसवाले 23 जून के तड़के गांधी नगर स्थित शमशान घाट व उसके आसपास फैल गए। बताया गया है कि सुबह करीब सवा चार बजे टीम ने देखा कि एक बाइक सवार तेजी से शमशान घाट से गीता कॉलोनी फ्लाईओवर की तरफ जा रहा है। शक के बिनाह पर टीम ने उसे रोकना चाहा, लेकिन उसने पुलिस को देखते ही बाइक और तेज कर की और टीम की तरफ गोलियां चलानी शुरू कर दी।

उसने चार राउंड फायर किए थे, जिसमें से एक गोली टीम में शामिल एएसआई सुखबीर को जा लगी। हालांकि सुखबीर ने बीपी जैकेट पहनी हुई थी, जिसकी वजह से उनकी जान बच गई। इसके बाद पुलिस ने भी जवाबी फायर किया और पांच राउंड गोलियां चलाई, जिसमें से पुलिस की एक गोली बदमाश के पैर में जा लगी और वह नीचे गिर गया।

इसके बाद टीम के अन्य सदस्यों ने उसे दबोच लिया और उसके हाथ से पिस्टल छीन ली। पकड़े गए बदमाश का नाम श्रीराम कॉलोनी, खजूरी खास निवासी 36 वर्षीय राशिद उर्फ शिब्बू खान बताया गया है। पुलिस ने उसके पास से एक देसी पिस्तौल व तीन जिंदा कारतूस, 18 कारतूस अलग और एक बाइक बरामद की है।

पूरा खानदान करता है बदमाशी
पुलिस ने बताया है कि शिब्बू के 6 भाई हैं और वे सभी चोरी, स्नैचिंग, रॉबरी व अन्य वारदातों को अंजाम देते हैं। इसके साथ ही उसके परिवार के अन्य सदस्य भी यही काम करते हैं। शिब्बू के ऊपर चोरी, स्नैचिंग, रॉबरी, आर्म्स एक्ट, हत्या व हत्या के प्रयास समेत कुल 25 केस दर्ज हैं। बताया गया है कि करीब दो साल पहले इसकी ताबड़तोड़ बढ़ती वारदातों को देखते हुए थाना खजूरी खास ने इसके ऊपर मकोका लगा दी थी, जिसके बाद से यह फरार हो गया था।

दो साल से फरार था शातिर बदमाश
पुलिस ने बताया है कि शिब्बू पिछले दो, ढाई सालों से फरार था और लोनी की नसबंधी कॉलोनी में छिपकर रह रहा था। इस दौरान पुलिस ने इसे खूब ढूंढने की कोशिश की थी, लेकिन ये अपने घर भी नहीं आता था। पुलिस ने जिस समय एनकाउंटर के बाद इसे पकड़ा, तब ये ओखला इलाके से अपने घर लोनी जा रहा था। पुलिस टीम को पता था कि शिब्बू बड़ा बदमाश है, जिसके ऊपर हत्या व हत्या के प्रयास के केस भी दर्ज हैं, इसलिए टीम पहले ही सारी तैयारी करके चली थी। पुलिस अब इसे गिरफ्तार करके आगे की पूछताछ कर रही है।

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें